मेरी फसल मेरा ब्यौरा ,मेरी फसल मेरा ब्यौरा हरियाणा सरकार ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

मेरी फसल हरियाणा रजिस्ट्रेशन /मेरी फसल मेरा ब्यौरा हरियाणा ऑनलाइन पोर्टल /मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना रजिस्ट्रेशन / मेरी फसल मेरा ब्यौरा 2020 के दस्तावेज व पात्रता

प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर के कर कमलों के द्वारा हरियाणा में ही मेरी फसल मेरा ब्यौरा हरियाणा ऑनलाइन पोर्टल योजना की शुरुआत की गई इस योजना के तहत किसानों को अपनी फसल का पूरा ब्यौरा इस ऑनलाइन पोर्टल पर जमा करवाना है प्रदेश सरकार के द्वारा किसानों की जमीन का पूरा विवरण इस वेबसाइट fasal.haryana.gov.in पर उपलब्ध होगा किसान अपने बोई गई फसल का पूरा विवरण इस ऑनलाइन पोर्टल पर जमा करवा सकते हैं तथा सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं का लाभ ले सकते हैं I

Meri Fasal Mera Byora
fasal.haryana.gov.in

मेरी फसल मेरा ब्यौरा/ Meri Fasal Mera Byora

प्रदेश के डिप्टी सीएम ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि किसानों की मुश्किलों को आसान करने के लिए सरकार की ओर से उठाया गया यह कदम है Meri Fasal Mera Byora इस पोर्टल के जरिए किसानों के लिए मंडियों में फसल बेचने और खरीदने के लिए विभिन्न प्रबंध किए गए हैं तथा सरकार ने हर दिन डेढ़ लाख मैट्रिक टन गेहूं सरसों आदि फसलों को खरीदने का प्रस्ताव रखा है सरकार ने गेहूं तथा सरसों की 2000 मंडियों मंडियों तथा गेहूं खरीद केंद्र का निर्धारण किया है|

मेरी फसल मेरा ब्यौरा का उद्देश्य/ Aims of Haryana Meri Fasal Mera Byora

मुख्यमंत्री हरियाणा श्री मनोहर लाल खट्टर के द्वारा चलाई गई इस योजना का उद्देश्य किसान और खेतों का पंजीकरण करना है किसान और कृषि किसान मंत्रालय द्वारा चलाए गए इस ऑनलाइन पोर्टल के जरिए राज्य के सभी किसान लाभ पा सकेंगे तथा उनकी फसलों का सारा ब्यौरा सरकार के पास उपलब्ध होगाI

मेरी फसल मेरा ब्यौरा के महत्वपूर्ण तथ्य/ Meri Fasal Mera Byora guidelines

हरियाणा प्रदेश की स्कीम के तहत अंतिम तिथि 7 सितंबर 2020 तक किसान अपनी फसल का ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं जिन किसानों ने इस स्कीम के तहत अपनी फसल की ऑनलाइन जानकारी अपलोड नहीं की वे सरकार के द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं का लाभ नहीं पा सकेंगे सरकार के द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं का लाभ पाने के लिए यह एक आवश्यक पोर्टल है जहां सरकार के द्वारा 35,16,663,44 एकड़ भूमि का पंजीकरण हो चुका है I

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल (fasal.haryana.gov.in) पर अब तक प्रदेश के 70% किसान अपना रजिस्ट्रेशन करवा चुके हैं तथा 40% ऐसे किसान हैं जिन्होंने अभी तक फसल कूपन पाने के लिए इस पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन नहीं करवाया प्रदेश में लोक डाउन के चलते किसानों की फसल को किसी भी प्रकार का नुकसान ना हो इसीलिए फसल बेचने के लिए एक कूपन जारी किए गए हैंI

मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल मैं पंजीकरण के दिशा निर्देश/ Meri Fasal Mera Byora Registration

इस पोर्टल पर किसानों को खाद बीज कृषि यंत्र तथा कृषि उपकरण के बारे में जानकारी 17 मोहिया करवाई जा रही है कृषि उपकरणों पर सरकार की ओर से 70 से 80% तक सब्सिडी दी जा रही है तथा उन्हें अच्छी क्वालिटी के बीच वह कृषि विशेषज्ञों की ओर से उत्तम तकनीकी जानकारी भी उपलब्ध करवाई जा रही है|

मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना के लाभ/ Meri Fasal Mera Byora benifits

इस योजना का मुख्य उद्देश्य प्राकृतिक आपदाओं के समय में किसानों की सही सहायता करना तथा किसानों को खाद बीज ऋण संबंधी जानकारी देना कटाई और विदाई के समय में तकनीकी जानकारी उपलब्ध करवाना तथा मंडी के भाव से परिचित करवाना है| किसी भी प्राकृतिक आपदा के समय में प्रवेश सरकार की ओर से वित्तीय सहायता दी जाएगी| तथा यह है सहायता धनराशि सीधा किसानों के बैंक अकाउंट में दी जाएगीI

मेरी फसल मेरा ब्योरा पंजीकरण में आवश्यक कागजात व पात्रता/ Documents for Meri Fasal Mera Byora

fasal.haryana.gov.in
fasal.haryana.gov.in
  • निवेदक प्रदेश का मूल निवासी हो
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पहचान पत्र
  • जमीनी दस्तावेज
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • बैंक की पासबुक की कॉपी
  • जमीन की नकल की कॉपी या खसरा संख्या
  • फसल के बारे में आपको सही जानकारी देनी होगी फसल का नाम किसम तथा बुवाई का समय

Leave a Comment